शनिवार, 25 अप्रैल 2009

साँईं बाबा: धार्मिक पाखण्ड का दूसरा नाम

देशभक्तों,

हमेशा ही हमारी हिन्दू कौम भोली रही हो ऐसा नहीं है। हिन्दू इतना स्वार्थी भी है कि अपने जरा से स्वार्थ सिद्धि के लिए किसी को भी भगवान मान सकता है। किसी किसी कीभी आराधना शुरू कर सकता है। किसी भी ऐरे गैरे के प्रति अपनी आस्था प्रकट कर सकता है। ऐसे में उसे देश हित, धर्म हित की कोई चिन्ता नहीं रहती। वह अपने मतलब के लिए किसी को भी सन्त मान कर भगवान बना सकता है।

कोई जरा सा चमत्कार क्या दिखा दे वह भगवान माना जाने लगता है। आधुनिक काल में लोगोंने साँईं बाबा को ही भगवान मान लिया। और साँईं के जीवन काल से लेकर आज तक उनकी दुकानबहुत बढ़िया चल रही है। अगर को हममें से कोई कहे कि मेरे घर की घरती पर कोई कदम रखेगा तो उसके दुख दर्द दूर हो जाएँगे, दुखियों के दुख मेरे घर की सीढ़ी पर पाँव रखते ही मिट जाएँगे और मरने के बाद भी मैं अपनी कब्र से क्रियाशील रहूँगा तो आप और हम सब हिन्दू उसे पाखण्ड मानेंगे। पर साँईं बाबा के इस पाखण्ड को सबने मान लिया और कुछ धर्मद्रोहियों ने तो उन्हें शिव और दत्तात्रेय का अवतार तक बना डाला। एक ऐसे व्यक्ति को बिठा कर मन्दिरों को भ्रष्ट जैसा जघन्य अपराध करने में लग गए। हम जानते हैं कि साँईं बाबा के माता पिता और उन्के जन्म का किसी को नहीं पता। साँईं ने पहले अपनी मार्केटिंग की, भक्त बनाए फिर भक्तों ने बाबा की मार्केटिंग की और बाबा सन्त से भगवान बना दिए गए।

अत: हे हिन्दुओं इस दिमागी दिवालिएपन और वैचारिक घटियापन से ऊपर उठो। देश को तुम्हारी आवश्यकता है। अगर कोई देवी है, कोई भगवान है तो वो सिर्फ़ भारत माता है। तुम्हें समय समय पर नए नए भगवानों की आवश्यकता रहती है पर उस देवी के प्रति कोई श्रद्धा नहीं कोई कृतज्ञता नहीं जो तुम्हें पीने के लिए पानी और साँस लेने के लिए हवा प्रदान करती है। ऐसी जीवनदायिनी माता को याद कर लो मुक्ति निश्चित है। किसी साँई और किसी बाबा की फिर कोई ज़रूरत नहीं।

भारत माता की जय!

11 टिप्‍पणियां:

Anil ने कहा…

लेख विवादात्मक प्रतीत होता है, लेकिन आपके निष्कर्ष "कोई भगवान है तो सिर्फ़ भारत माता है" से मेरी संपूर्ण सहमति है।

SWAPNILA ने कहा…

IS BAAT SE BILKUL SAHMAT HU KI HAM KISI KO BHI BHAGWAN MAAN BAITHTE HAI PAR KISI AISE KE BAARE ME KYO KAHANA JISKE AAGE KARORO SAR JHUKTE HAI............

Net ने कहा…

bas ek baat bata den,Sai Baba ne kab kisi ke saath dhoka kia ya kisi ka bura kia? unka jevan to puri tarah hi logo ke dukh dard door karne me hi chala gaya.unhone kabhi bhi koi sampati nahi ekktha nahi ki,ve hamesha hi fate-purane kapdon me hi rahte the.
ya mana ki dharm ke naam par bahut business ho raha hai par kuch sacche log bhi hain dunia me,kisi par viswas to karna hi hoga na

Kashif Arif ने कहा…

मै आपकी बात से पुरी तरह सहमत हु, आज के दौर के हिन्दु को अपनी मनोकामना पुरी होने से मतलब है चाहे वो किसी से भी मिले।

रही बात सांई बाबा की, तो इसका उदाहरण आगरा से अच्छा नही हो सकता जहां पर फुट्पाथ पर मदिंर बनाया गया है, और सड्क के उस तरफ की पुरी फ़ुट्पाथ पर उनका कब्ज़ा है और अब हर रोज़ उस सडक पर जाम लगता है।

Murari Pareek ने कहा…

भाई बाबो की दुनिया महान हैं इन्हें भला बुरा मत कहो, अगर बाबाओ के बारे मैं जानना है तो एक सत्य बाबा चमत्कारी बाबा के बारे मैं मेरे ब्लॉग पर पढो | मुझे नहीं लगता उश्के बाद आपको बाबाओं से कोई शिकायत होगी !!!

Rohyt Malhotra ने कहा…

aapse bada chutiya nahi dekha. deshbhakti ki baat karte ho aur apne article se desh ko todne ka kaam kar rahe ho..

राज भाटिय़ा ने कहा…

सब पाखंड है, ओर मुर्खो की कमी भी नही,दुकान दारी चमक रही है....

naveentyagi ने कहा…

अत: हे हिन्दुओं इस दिमागी दिवालिएपन और वैचारिक घटियापन से ऊपर उठो। देश को तुम्हारी आवश्यकता है। अगर कोई देवी है, कोई भगवान है तो वो सिर्फ़ भारत माता है।
bahut krantikaari veechaar hai .inhe banaaye rakkao.

naveentyagi ने कहा…

अत: हे हिन्दुओं इस दिमागी दिवालिएपन और वैचारिक घटियापन से ऊपर उठो। देश को तुम्हारी आवश्यकता है। अगर कोई देवी है, कोई भगवान है तो वो सिर्फ़ भारत माता है।
bahut krantikaari veechaar hai .inhe banaaye rakkao.

ziaul ने कहा…

me ek muslim hu aap sub se bus ek hi sawal he ki aap jis kisiki bhi puja kurte ho ............ek baar apne dil se pucho ki us ko bhi to kisi ne banaya hoga or apne aap se pucho ki kya aap mamuli dana bhi apni sakti se peda kur sakte ho .ager aap ka dil or dimag kahega ki nahi to ek sachchi or saaf baate batae he ki qraan 100% sach he is duniya ki or duniya ke baad ki kayamut aaengi jo aap ko is sawal pe khada kur degi

....................i prommisssss

islam jagda kurne ya kisiko taqlif nahi deta or na dega

Salim Memon ने कहा…

sai baba ne kabhi yah nahi kaha k bhagwan hu aur meri pooja karo
wah to bar bar logo ko yahi sandesh dete the
"SAB KA MALIK EK "
"ALLAH MALIK HAI "
samaj ne wale samaj gaye
jo na samaje wah ......hai